Thursday, December 8, 2022

अवैध शराब बिक्री पर सरकार नही लगा पा रही है नकेल

दिनेशचंद्र कुमार सिविल रिपोर्टर छत्तीसगढ़ डाइजेस्ट रायपुर छत्तीसगढ़

लॉक डाउन के दौरान शराब माफियाओं द्वारा शराब की अवैध बिक्री खुलेआम की जा रही है और शराब के शौकीन लोग शराब की मुहमांगी कीमत पर खरीद भी रहे हैं शराब कारोबारी तशकर सरकार की छवि धूमिल कर रहे हैं लॉकडाउन के दौरान सोशल डिस्टेसिंग को लेकर एवं वायरस संक्रमण से बचाव के लिए केन्द्र – राज्य सरकारों द्वारा देशी विदेशी शराब दुकानों को बंद किया गया है वहीं लॉकडाउन में शराब माफियाओं द्वारा शराब बिक्री का तंत्र विकसित कर अवैध शराब बिक्री को अंजाम दे रहे हैं कई सामाजिक संगठनों ने राज्य सरकार से शिकायत भी की है इसके बावजूद अवैध शराब बिक्री फल फूल रहा है विदित हो कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अवैध शराब बिक्री को लेकर सख्त कार्रवाई के निर्देश पूर्व में दिए गए हैं साथ ही विशेष सेल का गठन किया गया है फिर भी सरकारी तंत्र शराब माफियाओं पर कानूनी लगाम लगाने में असहाय (नाकाम) सी नजर आ रही है तभी तो राज्य के हर क्षेत्र से अवैध शराब बिक्री की खबरे सुबह शाम पडने सुनने को मिल रही है लॉकडाउन लगने के बाद राज्य के बाहर से शराब कैसे पहूंच रही है जबकि छत्तीसगढ़ राज्य के शासकीय देशी – विदेशी शराब दुकाने बंद है लॉकडाउन होने के बाद राज्य में अवैध शराब की सप्लाई को लेकर कई सवाल खड़े हो रहे हैं राज्य के चौकी, नाका, टोल गेट में पुलिस की मौजूदगी होने के बाद भी अवैध शराब की सप्लाई जोरो पर है शायद लगता है कि प्रभावशाली व्यक्ति के दबाव में आकर नाका चौकी के पहरेदार कार्रवाई ना कर इन्हें छोड़ दिया जा रहा हो या फिर संरक्षण प्राप्त हो, छत्तीसगढ़ के सभी छोटे बड़े शहरों,जिलो में चौगुनी कीमत पर शराब मुहैय्या कराई जा रही है दुसरी ओर ग्रामीण क्षेत्रों में भी महुआ शराब की भी अवैध कारोबार फल फूल रहा है विगत दिनों ही गरियाबंद के थाना पाण्डुका पुलिस ने कार्यवाही की हैं इन दिनों राज्यों के कई क्षेत्रों में पुलिस द्वारा अवैध शराब बिक्री पर कार्यवाही कर रही है पर पुलिस द्वारा ठोस कडी कार्यवाही ना किये जाने एवं चौकी – नाका मे विशेष चेकिंग ना होने के अभाव में शराब माफिया कोचिये इसका फायदा उठाकर सरकार के नाक के नीचे अवैध शराब बिक्री कर रहे हैं लॉकडाउन में शासकीय शराब दुकाने बंद है तो फिर आखिर शराब आ कहां से रही हैं यह एक बड़ा सवाल है ? जिसका जवाब शायद ही किसी जिम्मेदार शासक या अधिकारी के पास हो पुलिस अवैध शराब के ठिकानों का भी पता नहीं लगा पा रही है शायद सरकारी खुफिया तंत्र इन शराब माफियो के आगे कमजोर सा हो गया है जिसका फायदा बड़े बड़े शराब कोचिये उठा रहे हैं, यह कहना गलत नहीं होगा कि लॉकडाउन में यह हालात है कि अन्य राज्यों से शराब लाकर छत्तीसगढ़ राज्य में खपाया जा रहा है।

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,601FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles