Saturday, July 2, 2022

उत्तरप्रदेश पुलिस ने जी न्यूज के बाद अब ए इन आई को लगाई फटकार, कहा- फेक न्यूज फैलाना बंद करो

उत्तरप्रदेश पुलिस ने जी न्यूज के बाद अब ए इन आई को लगाई फटकार, कहा- फेक न्यूज फैलाना बंद करो

कोरोना वायरस के बढ़ते हुए असर को देखकर केंद्र से लेकर राज्य सरकारें जनता को राहत देने की कोशिशें कर रही हैं। तब ऐसे समय में देश का मीडिया साम्प्रदायिकता का गंदा खेल खेल रहा है। 

खबरों के माध्यम से जो मीडिया अबतक जागरूकरता आ रहा था वो अब झूठी खबरें फैलाने लगा है।

ज़ी न्यूज़ के बाद अब समाचार एजेंसी एएनआई ने नोएडा पुलिस के नाम से झूठी खबर फैला दी है। दरअसल दिल्ली में निज़ामुद्दीन स्थित तब्लीगी जमात आजकल मीडिया का सबसे पसंदीदा विषय बन गया है।

अपना नाम आने और झूठी खबर को देखते हुए नोएडा पुलिस ने ANI को जवाब देते हुए खबर का खंडन किया है। यूपी ANI ने जिला गौतमबुद्ध नगर के डीसीपी संपल्प शर्मा के सौजन्य से खबर चलाई कि, “जो लोग नोएडा के सेक्टर 5 हरौला में तब्लीगी जमात के लोगों के संपर्क में आए हैं उनको क्वारंटाइन किया गया है।”

अपने नाम से प्रकाशित इस भ्रामक और झूठी खबर को देखने के बाद गौतमबुद्ध नगर के डीसीपी संकल्प शर्मा ने फौरन ANI के इस खबर का खंडन करके ANI को ट्वीटर पर टैग करते हुए कहा कि, “जो लोग कोरोना पॉजिटिव लोगों के संपर्क में आये हैं उनको समान्य प्रक्रिया के तहत क्वारंटाइन किया गया है। कहीं भी तब्लीगी जमात का नाम नहीं लिया गया है। आप झूठी खबर फैला रहे हैं।”

जब लॉकडाउन किया गया तो सबसे बड़ा सवाल उठा कि इतने दिनों तक हिंदू मुसलमान किए बगैर इस देश का मीडिया जिंदा कैसे रहेगा! लेकिन कुछ ही दिनों के अंदर निजामुद्दीन मरकज के बहाने उसी मुसलमानों को रूप में ऐसा निशाना मिल गया कि सांप्रदायिक एजेंडे को लेकर मीडिया फिर से जिंदा हो गया। लेकिन अब इस देश का मीडिया हर खबर को ऐसे ही प्रस्तुत कर रहा है जैसे कि कोरोना जैसी महामारी के जिम्मेदार मुसलमान ही हैं

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,373FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles