Monday, June 27, 2022

भारत में 100000 के पार पहुंचा कोरोना का मामला, करीब 39000 मरीज हुए स्वस्थ, 3000 से अधिक की मौत

महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) के कुल मरीजों की तादाद एक लाख के पार हो गई है, जबकि मरनेवालों की संख्या तीन हजार से ज्यादा है।

अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केन्द्र (सीएसएसई) द्वारा संकलित आंकड़ों से पता चला है कि सोमवार (18 मई) रात करीब 11 बजकर 30 मिनट (भारतीय समयानुसार) तक देश में कुल 3144 लोगों की इस महामारी से मौत हो चुकी है, जबकि कोरोनो वायरस के संक्रमित मामलों की कुल संख्या 1,00,161 हो गई है, जिनमें से 38,909 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। वहीं, देश में करीब 58,000 सक्रिय मरीज हैं। पिछले 24 घंटे की बात करें, तो देश में 4613 नए केस आए हैं।

महाराष्ट्र मे सबसे अधिक 35 हजार मामले
महाराष्ट्र में कोरोना वायरस से संक्रमण के 2,033 नए मामले आने के साथ ही राज्य में सोमवार तक इस वायरस से संक्रमित हुए लोगों की संख्या बढ़कर 35,058 हो गई है। राज्य स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि यह लगातार दूसरा दिन है जब राज्य में कोविड-19 के 2,000 से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण से 51 और लोगों की मौत होने के साथ ही संक्रमण से मरने वालों की संख्या राज्य में 1,249 पहुंच गई है।

गुजरात में कोरोना के कुल 11,746 मामले
गुजरात में सोमवार को कोविड-19 के 366 नए मामले सामने आने से राज्य में कुल मामले बढ़कर 11,746 हो गए। वहीं, 35 और व्यक्तियों की मौत होने के बाद कोरोना वायरस के कारण जान गंवाने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 694 हो गई। इन 35 मौतों में से 31 मौतें अहमदाबाद में हुई हैं। अहमदाबाद में 31 मौतें होने के अलावा, दो मौतें सूरत में और एक एक व्यक्ति की मौत पाटन और भरूच में हुई है।

दिल्ली में कोरोना से 160 की मौत, संक्रमण के मामले 10,000 के पार
दिल्ली में कोविड-19 से जान गंवाने वाले लोगों की संख्या सोमवार को बढ़ कर 160 हो गई, वहीं संक्रमण के मामले 10,000 के पार चले गए। राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस के 299 नए मामले सामने आए हैं, जबकि फिलहाल इसके 5,409 मरीज उपचार से गुजर रहे हैं। 18 मई को जितने मरीजों की मौत हुई, उनमें 82 मरीज 60 साल या उससे अधिक उम्र के थे यानी 52 फीसद मरीज बुजुर्ग थे। बुलेटिन के अनुसार 45 मरीज 50-59 साल के और 33 मरीज 50 साल से कम उम्र के थे।

बिहार में कोरोना से 9वीं मौत, संक्रमितों की संख्या 1423 हुई
बिहार में कोरोना मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। राज्य में सोमवार को विभिन्न जिलों के 103 लोग पॉजिटिव पाए गए, जिससे राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर अब 1423 तक पहुंच गई। इस बीच सोमवार को एक कोरोना संक्रमित महिला की मौत भी हो गई, जिससे कोरोना से मरने वालों की संख्या नौ तक पहुंच गई। इन 103 लोगों में गोपालगंज के 31, बेगूसराय के 15, सुपौल, नालंदा मथा मुंगेर के 7-7, मुजफ्फरपुर के 5, भागलपुर, वैशाली और मधुबनी के 4-4, सहरसा, कटिहार व सारण के 3-3, भोजपुर व अरवल के 2-2 तथा कैमूर, पटना, सीतामढ़ी, शिवहर, पूर्णिया व खगड़िया के एक-एक व्यक्ति को कोरोना संक्रमित पाया गया।

भारत में लॉकडाउन 4.0 शुरू
सोमवार (18 मई) से शुरू हुए ”लॉकडाउन-4″ में केन्द्र और राज्य सरकारों ने तमाम छूट देते हुए कुछ शर्तों के साथ बाजार, टैक्सी, ऑटो और अंतरराज्यीय बस सेवा शुरू करने की अनुमति दे दी है। कोविड-19 लॉकडाउन के कारण ठप पड़ी अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए आर्थिक गतिविधियां शुरू करने की छूट देते हुए देश के तमाम प्राधिकारों ने बाजार खोलने, अंतरराज्यीय परिवहन सेवा बहाल करने और यहां तक कि कुछ राज्यों में नाई की दुकान तथा सैलून आदि खोलने की भी अनुमति दे दी है। हालांकि ये छूट निषिद्ध क्षेत्रों में नहीं दी गई है।

लॉकडाउन 4.0 में कई रियायतें

”लॉकडाउन-4″ में स्कूल, कॉलेज, सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, धार्मिक स्थल और धार्मिक सहित अन्य प्रकार के आयोजनों पर पाबंदी है और यह कम से कम 31 मई तक जारी रहेगी। भारत में 25 मार्च से ही लॉकडाउन जारी है जो शुरुआत में 21 दिन, यानी 14 अप्रैल तक के लिए लागू था। लेकिन उसे बढ़ाकर पहले तीन मई, फिर 17 मई और अब 31 मई तक कर दिया गया है। हालांकि, लॉकडाउन के चौथे चरण में कई रियायतें दी गई हैं, वहीं राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को अधिकार दिया गया है कि वे केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा तय मानदंडों के आधार पर अपने-अपने अधिकार क्षेत्र में किसी भी बड़ी-छोटी प्रशासनिक इकाई को रेड, ऑरेंज या ग्रीन जोन घोषित कर सकते हैं।

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,367FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles