Thursday, October 6, 2022

24 घंटों के अंदर चले गये दो सिनेमाई जीनियस, इरफ़ान संग इस फ़िल्म में किया काम

Rishi Kapoor Death: 24 घंटों के अंदर चले गये दो सिनेमाई जीनियस, इरफ़ान संग इस फ़िल्म में किया काम

नई दिल्ली, जेएनएन। हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री के लिए इससे बड़ा सदमा दूसरा नहीं हो सकता कि 24 घंटों के अंदर दो सिनेमाई जीनियस इस दुनिया को छोड़कर चले गये हों। इरफ़ान ख़ान के निधन की ख़बर से बॉलीवुड अभी उभरा भी नहीं था कि ऋषि कपूर के जाने की ख़बर आ गयी। बुधवार को दोपहर इरफ़ान ख़ान को सुपुर्दे-ख़ाक किया गया था और गुरुवार सुबह लगभग साढ़े 9 बजे ऋषि कपूर के निधन की ख़बर आ गयी। ऋषि के निधन की ख़बर से इंडस्ट्री सकते में है और पुरज़ोर सदमे में है। ऋषि और इरफ़ान के बारे में सोचते-सोचते वो फ़िल्में याद आ रही हैं, जिनमें दोनों ने साथ में काम किया।
ऐसी ही फ़िल्म थी निखिल आडवाणी निर्देशित डी-डे, जिसमें ऋषि कपूर ने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम से प्रेरित रोल किया था। वहीं इरफ़ान ख़ान रॉ एजेंट बने थे। फ़िल्म में अर्जुन रामपाल, हुमा कुरैशी और श्रुति हासन भी अहम भूमिकाओं में थे। सोशल मीडिया में दोनों कलाकारों के जाने के बाद इस फ़िल्म से जुड़ी यादें शेयर की जा रही हैं।
इस फ़िल्म के प्रमोशन के दौरान इरफ़ान ख़ान से जब ऋषि कपूर के बारे में पूछा गया था तो उन्होंने जवाब दिया था कि मेरे कज़िन उनके बहुत बड़े फैन हैं। हालांकि मैंने उनकी सभी फ़िल्में देखी हैं। मुझे नहीं लगता कि मेरे अंदर कभी था कि मैं ऋषि कपूर जैसा बन पाऊंगा। वो इतने तरल हैं। उन्होंने अपनी कला को तैयार करने में बहुत काम किया है। वो ऐसे सितारों में शामिल हैं, जो लगातार एक जैसी फ़िल्में करते रहते हैं, मगर फिर भी उनसे कुछ कुछ नया मिलता रहता है।
2013 में आयी फ़िल्म मोस्ट वॉन्टेड अपराधी को पाकिस्तान से भारत लाने के मिशन पर आधारित थी। यह पहली बार था कि ऋषि कपूर ने पर्दे पर किसी डॉन का किरदार निभाया हो। करियर की इस पारी में ऋषि काफ़ी प्रयोगधर्मी हो गये थे और अपने किरदारों के साथ एक्सपेरिमेंट करने लगे थे।
ऋषि को याद करते हुए निखिल ने लिखा- एक एक्टर अपने निर्देशक को जो इज़्ज़त देता है, उतनी आप से पहले किसी ने नहीं दी। वो भी तब जबकि आप कौन हैं। आप मेरे दोस्त थे सर। मैं बैठा हूं, याद कर रहा हूं और हंस रहा हूं। आपकी जोशीली आवाज़ का इंतज़ार कर रहा हूं- ब्वॉय, मेरे लिए एक और ड्रिंक बना दो।
No one treated me with the respect an actor gives a director more than you did, that too being who you were. You were my friend sir. I’m sitting, remembering and just chuckling, laughing. Waiting for your booming voice to say “boy… make me one more drink!”

— Nikkhil Advani (@nikkhiladvani)

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,514FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles