Monday, August 8, 2022

एलोन मस्क ने ट्विटर के खिलाफ 44 बिलियन डॉलर से अधिक के सौदा के मामले में काउंटर सूट दायर किया

File photo

विलमिंगटन: एलोन मस्क ने शुक्रवार को ट्विटर के खिलाफ अपनी कानूनी लड़ाई तेज कर दी है. मस्क की ओर से इस सोशल मीडिया कंपनी को खरीदने के 44 बिलियन डॉलर के सौदे को तोड़ने की घोषणा के बाद ट्विटर उनके खिलाफ पहले कोर्ट में पहुंच चुका है. मस्क की ओर से मुकदमा गोपनीय रूप से दायर किया गया. समाचार एजेंसी रॉयटर ने यह खबर दी है. 
इस लॉ सूट के 164 पेजों का दस्तावेज़ सार्वजनिक रूप से उपलब्ध नहीं है, लेकिन कोर्ट के नियमों के तहत इसका एक संशोधित संस्करण जल्द ही सार्वजनिक किया जा सकता डेलावेयर कोर्ट ऑफ चांसरी के चांसलर कैथलीन मैककॉर्मिक द्वारा 17 अक्टूबर से शुरू होने वाले पांच दिन के ट्रायल का आदेश देने के कुछ घंटों बाद मस्क की ओर से यह मुकदमा दायर किया गया. डेलावेयर कोर्ट ऑफ चांसरी को यह तय करना है कि मस्क सौदे को तोड़ सकते हैं या नहीं.
ट्विटर ने इस पर कमेंट के अनुरोध का तुरंत जवाब नहीं दिया.
दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति और टेस्ला इंक के सीईओ एलोन मस्क ने कहा था कि वे टेकओवर को छोड़ रहे हैं. उन्होंने ट्विटर को अपने प्लेटफॉर्म पर फेक एकाउंट की संख्या गलत तरीके से पेश करके समझौते का उल्लंघन करने के लिए दोषी ठहराया था.
इसके कुछ दिनों बाद ट्विटर ने मुकदमा दायर किया. फेक एकाउंट को लेकर मस्क के सौदा तोड़ने की बात पर उसने दावा किया कि मस्क 54.20 डॉलर प्रति शेयर के विलय अनुबंध के लिए बाध्य हैं. कंपनी के शेयर शुक्रवार को 41.61 डॉलर पर क्लोज हुए. यह मस्क द्वारा सौदे को तोड़ने के बाद से उच्चतम स्तर है
मैककॉर्मिक ने पिछले हफ्ते मामले की सुनवाई में तेजी लाते हुए कहा कि वह सौदे की अनिश्चितता के कारण ट्विटर को संभावित नुकसान को सीमित करना चाहता है.
ट्विटर ने रेवेन्यू में गिरावट और कंपनी के भीतर अराजकता पैदा करने के लिए अदालती लड़ाई को जिम्मेदार ठहराया है.
दोनों पक्ष मूल रूप से 17 अक्टूबर के मुकदमे के लिए सहमत हुए थे, लेकिन वे आंतरिक दस्तावेजों और अन्य सबूतों को लेकर असमंजस में थे.
मस्क ने इस सप्ताह उनकी खोज खबर के अनुरोधों के जवाब में ट्विटर पर अपने पैर खींचने का आरोप लगाया. ट्विटर ने उन पर बड़ी मात्रा में डेटा मांगने का आरोप लगाया था. उसने कहा था कि यह इस मामले में मुख्य मुद्दे के लिए अप्रासंगिक हैं कि क्या मस्क ने सौदे के अनुबंध का उल्लंघन किया? चीफ जज ने अपने आदेश में विवाद के मुद्दे सामने आने का अनुमान लगाया था. मैककॉर्मिक ने कहा, “यह आदेश किसी भी डिस्कवरी डिस्प्यूट का समाधान नहीं करता है. इसमें बड़े डेटा सेट के लिए किसी भी अनुरोध का औचित्य शामिल है.”

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,429FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles