Home Social Activity पुरानी पैंशन बहाली व अन्य मांगों को लेकर पुर्व अर्धसैनिक बैंगलोर से...

पुरानी पैंशन बहाली व अन्य मांगों को लेकर पुर्व अर्धसैनिक बैंगलोर से दिल्ली तक सड़कों पर उतरेंगे


पंचकूला
पुरानी पैंशन बहाली व अन्य मांगों वास्ते पुर्व अर्धसैनिक बैंगलोर से दिल्ली तक सड़कों पर उतरेंगे
हरियाणा सरकार द्वारा 2016 में पहले से कार्यरत सैनिक कल्याण बोर्ड की नाम पट्टी बदल कर उसे सेना/अर्ध सैनिक कल्याण बोर्ड कर दिया गया। जिला स्तर पर गठित उपरोक्त कल्याण बोर्डों में सेना के कर्नल, कप्तान, सुबेदार वर्षों से पदस्थ हैं जिनका अर्ध सैनिक बलों के जवानों व उनके परिवारों के पैंशन, पुनर्वास व अन्य कल्याणकारी मुद्दों से कोई लेना देना नहीं। जब कोई पुर्व पैरामिलिट्री जवान अपनी पैंशन के लिए लिए उपरोक्त बोर्ड में गुहार लगाता है तो तो वहां पर तैनात पुर्व सेना अधिकारी द्वारा टका सा जवाब कि हमारे पास आपका कोई रिकॉर्ड उपलब्ध नहीं है तो फिर यह भलाई बोर्ड दो लाख पैरामिलिट्री परिवारों के साथ सरासर बेमानी है। भलाई के नाम पर गठित कल्याण बोर्डों में बिना पुर्व अर्धसैनिकों के 50 प्रतिशत भागीदारी के उपरोक्त बोर्ड छलावा है।
कॉनफैडरेसन आफ एक्स पैरामिलिट्री फोर्सेस मार्टियरस वेलफेयर एसोसिएशन द्वारा अभी 4 सितंबर 2022 को अर्ध सैनिक कल्याण मंत्री श्री ओमप्रकाश यादव को यादव धर्मशाला नारनौल में बुला कर होने वाली कठिनाइयों बारे अवगत करवाया गया ओर माननीय मंत्री जी द्वारा पैरा मिलिट्री महापंचायत को आश्वासन दिया गया था कि 25 से 30 सितंबर 2022 के बीच चंडीगढ़ में मीटिंग में बुलाई जाएगी लेकिन वह मीटिंग किन परिस्थितियों में टाल दी गई जोकि चिंतनीय है। अगर मंत्री जी संतरी से वायदा खिलाफी करें तो सरहदों एवं पुरे देश की सुरक्षा में तैनात पैरामिलिट्री जवानों पर क्या प्रभाव पड़ेगा।
कॉनफैडरेसन चेयरमैन पुर्व एडीजी श्री एचआर सिंह ने कहा कि एडिशनल चीफ सेक्रेटरी अर्ध सैनिक कल्याण बोर्ड चंडीगढ़ के साथ 17 नवंबर 2022 को सचिवालय में बैठक तय की गई जोकि एन वक्त पर टाल दी गई तो फिर ऐसे में जाएं कहां। अभी एक ओर सौतेले व्यवहार का मामला सामने आया जब हरियाणा सरकार द्वारा सीआरपीएफ शौर्य चक्र विजेता जिले सिंह को मात्र सात लाख सम्मान राशि मिली जबकि सेना जवान को 31 लाख यानी शहादत में भी भेदभाव बदस्तूर जारी है।
केंद्रीय सरकार हों या राज्यों की सरकारें, पैरा मिलिट्री के 33 लाख परिवार अपने को सुविधाओं के नाम पर ठगे से महसूस कर रहे हैं। सीपीएमएफ एक्स सर्विस मैन वेलफेयर एसोसिएशन कर्नाटका के बैनर तले जवानों की पुरानी पैंशन बहाली, राज्य में अर्धसैनिक कल्याण बोर्डों के गठन, एक्स मैन दर्जा देने, बेहतर शिक्षा स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार व अन्य कल्याणकारी मुद्दों को लेकर दिनांक 13 दिशम्बर 2022 को संसद हमले में शहीद जवानों को फ्रीडम पार्क, बंगलोर में श्रद्धा सुमन अर्पित कर शांतिपूर्ण रैली आयोजित करेंगे और उसके बाद 14 फरवरी 2023 को जंतर मंतर पर पुलवामा शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित कर शांतिपूर्ण धरना प्रदर्शन किया जाएगा जिसमें अलग अलग राज्यों से हजारों की संख्या में पुर्व अर्धसैनिक भाग लेंगे साथ ही आने वाले 2024 के आम चुनावों के लिए नई रणनीति तय की जाएगी।

रणबीर सिंह
महासचिव

Exit mobile version