Monday, May 23, 2022

गीदम ब्लॉक स्तरीय ग्रीष्म कालीन ज्ञान उपचारात्मक शिक्षण कार्यक्रम किया गया प्रारंभ

गीदम ब्लॉक स्तरीय ग्रीष्म कालीन ज्ञान उपचारात्मक शिक्षण कार्यक्रम किया गया प्रारंभ

• 15 दिवसीय ज्ञान शिक्षण कार्यक्रम 12 से 26 मई 2022 तक पाठ्यक्रम तथा पाठ्यक्रमेतर गतिविधियाँ पर किया जाएगा

गीदम/दंतेवाड़ा, 12 मई 2022 :-
जिला दंतेवाड़ा कलेक्टर श्री दीपक सोनी एवं जिला पंचायत सीईओ श्री आकाश छिकारा के आदेश पर जिला शिक्षा अधिकारी राजेश कर्मा एवं जिला मिशन समन्व्ययक श्यामलाल शोरी के मार्गदर्शन में स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा 15 दिवसीय विकास खंड स्तरीय ग्रीष्म कालीन उपचारात्मक शिक्षण कार्यक्रम शासकीय कन्या उच्च माध्यमिक विद्यालय जावंगा, गीदम में गुरुवार को शुभारंभ किया गया। उद्घाटन समारोह में बड़े पनेडा ग्राम पंचायत सरपंच रामपाल वेक, गीदम विकास खंड शिक्षा अधिकारी शेख रफीक, सहायक खण्ड शिक्षा अधिकारी भवानी पूनेम, खंड स्रोत समन्व्ययक अनिल शर्मा ने बच्चों को प्रोत्साहन किया और बताया कि परीक्षाएं समाप्ति पर नए सत्र कक्षाएं शुरू होते तक बच्चों में पूर्व ज्ञान को सतत रखने और बेहेतर प्रदर्शन हेतु ज्ञान उपचारात्मक शिक्षण कार्यक्रम में आयोजित किए जाने वाले सभी विधाओं में बच्चों में छुपी हुई कला एवं प्रतिभा को परिचय देने की प्रेरणा दी। प्रतिभावन बच्चों को राज्य तथा राष्ट्रिय स्तरीय कार्यक्रमों में मौका दिया जाएगा। संकुल प्राचार्या तथा कार्यक्रम पर्यवेक्षक कैलाश नीलम ने कहा कि 15 दिवसीय ज्ञान उपचारात्मक शिक्षण कार्यक्रम 12 से 26 मई 2022 तक प्रति दिन प्रातः 8:30 से 10:30 बजे तक पाठ्यक्रम तथा पाठ्यक्रमेतर विभिन्न गतिविधियाँ पर आयोजित किया जाएगा। जिसमें गणित कौशल, विज्ञान प्रयोग व उपयोग, हिंदी व अंग्रेज़ी भाषा कौशल, सामाजिक ज्ञान, पठन व लिखन कौशल, तकनीकि शिक्षा, प्रश्नोत्तरी, प्रोजेक्ट तयारी, पारंपरिक व सांस्कृतिक ज्ञान, क्राफ्ट वर्क, चित्रकला, मूर्तिकला एवं दैनिक जीवन में आवश्यकता विधाओं पर विशेषज्ञों द्वारा बच्चों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। शासकीय कन्या माध्यमिक विद्यालय गीदम के शिक्षक तथा कार्यक्रम समन्व्ययक राकेश मिश्रा ने कलेक्टर दीपक सोनी जी से पूर्व में चर्चित शिक्षण प्रारूप, कार्यक्रम गतिविधियों पीपीटी को बच्चों एवं शिक्षकों से साझा किय। भारतीय विज्ञान कांग्रेस संस्था, विज्ञान व प्रदौगिकी विभाग भारत सरकार के विशेषज्ञ तथा ग्रीन केयर सोसायटी इंडिया के डायरेक्टर अमुजुरी विश्वनाथ ने कहा कि पूर्व ज्ञान को आधार केंद्र बनाकर वर्तमान में विभिन्न विषयों पर सृजनात्मक तथा नवाचार कार्यप्रणाली से ज्ञान प्राप्त करना आवश्यकता है एवं समापन समारोह में बच्चें एवं शिक्षकों को प्रशिक्षण प्रशस्ति पत्र एवं पुरस्कार से सम्मान किया जाएगा। इस कार्यक्रम में संकुल प्राचार्य कैलाश नीलम, जितेंद्र यादव, सर्व प्राचार्य, हउरनार संकुल समन्व्ययक जितेंद्र चौहान, गीदम संकुल समन्व्ययक योगेश सोनी, जावंगा संकुल समन्व्ययक नितिन विश्वकर्मा, प्रशिक्षक अमुजुरी विश्वनाथ, आईटीआई प्रशिक्षक, शिक्षक, शिक्षिका एवं बच्चें उपास्थित थे।

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,321FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
spot_img
spot_img

Latest Articles