Sunday, August 14, 2022

मध्‍य प्रदेश: दबंगों की दबंगई और स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की लापरवाही ने छीन ली दो जिंदगियां, प्रसूता और बच्‍चे की मौत

भोपाल : मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) के भिंड जिले के निसार गांव में कुछ दबंगों की दबंगई और स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही ने एक प्रसूता महिला की जिंदगी छीन ली. सात महीने की प्रसूता रेखा राठौर के दिव्यांग पति एम्बुलेंस नही मिलने के कारण लोडिंग वाहन में पत्नी को लहार सिविल अस्पताल लेकर आए. लोडिंग वाहन में ही रेखा ने एक नवजात बच्चे को जन्म दिया. उचित इलाज नहीं मिलने से महिला के साथ ही उसके अन्य बच्चे की गर्भ में ही मौत हो गई, जिसे लेकर परिजनों ने जमकर हंगामा किया. मौके पर पहुंची पुलिस ने महिला का पोस्टमार्टम कराकर मामले की जांच शुरू कर दी है. हालांकि उसके बच्चे को भी हालत गंभीर होने के कारण जिला अस्‍पताल के एसएनसीयू वार्ड में रेफर किया गया है. सात माह की गर्भवती रेखा राठौर चार दिन पहले छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले से अपने घर भिण्ड के निसार गांव आई थी. रात को प्रसूता को प्रसव पीड़ा हुई. इस पर प्रसूता के पति सावली राठौर ने जननी एक्सप्रेस को फोन लगाया. परिजनों का आरोप है कि जननी एक्सप्रेस गांव में आई परंतु गांव के दबंग लोगों ने उसे वापस लौटा दिया. इस पर बेबस पति लोडिंग वाहन में प्रसूता को लेकर निसार गांव से लहार पहुंचा. समय पर लहार अस्पताल न पहुंचने पर रास्ते में प्रसूता ने एक बच्चे को जन्म दे दिया, जबकि दूसरे बच्चे के जन्म के लिए प्रसूता को लगातार दर्द हो रहा था.

पति का आरोप है कि डिलीवरी रूम में मौजूद स्टाफ ने प्रसूता को उचित उपचार न देकर कुर्सी पर बिठा दिया. करीब 30 मिनट तक वो कुर्सी पर बैठी रही. महिला को लगातार प्रसव पीड़ा और ब्लीडिंग होती रही. उचित देखभाल के अभाव में प्रसूता ने दम तोड़ दिया. रेखा की मौत के बाद परिजनों ने हंगामा खड़ा कर दिया. ये मामला उस समय उजागर हुआ जब अस्पताल में पुलिस पहुंची.

पुलिस ने शव का पोस्‍टमार्टम कराते हुए परिजनों को सौंप दिया. इस मामले में मुख्य चिकित्सा एवं स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारी यूपीएस कुशवाह ने मामले की जांच के बाद कार्यवाही की बात कही है. वहीं दबंगों द्वारा एम्बुलेंस को वापस लौटाने की घटना पर उन्होंने सफाई दी है. उनका कहना है कि गांव में घुसने का रास्‍ता संकरा होने के कारण जननी एक्सप्रेस वापस लौट आई थी, जिससे प्रसूता को उसका पति लोडिंग गाड़ी से अस्पताल लेकर पहुंचा था. 

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,434FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles