Sunday, August 14, 2022

जनसुनवाई आनन-फानन में गांव में प्रचार तक नहीं, हमारा गांव वालों के ओर से विरोध – आप

जलाशय में किसानों के लिये पानी नहीं, वहां से फैक्ट्री को आपूर्ति की योजना बनाकर जनसुनवाई आखिर क्यों ?

वदूद आलम, प्रदेश उपाध्यक्ष, आम आदमी पार्टी।

आम आदमी पार्टी ने आज फिर ये सवाल किया है कि जिस जलाशय में किसानों के खेत में देने के लिए पानी नहीं है वहां से फैक्ट्री को पानी कैसे और क्यों?

चिचोली क्षेत्र में प्रस्तावित मेसर्स आईटेकसी मेटल्स कंपनी के लिए शुक्रवार को हुई जनसुनवाई में गिनती के ग्रामीणों और कुछ जनप्रतिनिधियों के सहयोग से माहौल बनाने का प्रयास किया गया।

आम आदमी पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष वदूद आलम ने बताया की जनसुनवाई हेतु पर्याप्त प्रचार नहीं किए जाने के कारण उपस्थिति क्षीण रही इससे ऐसा प्रतीत होता है आनन फानन में जनसुनवाई कर खाना पूर्ति का पूरे नियोजित प्लानिंग था। इसका प्रचार नहीं होने से कुछ ग्रामीण और जनप्रतिनिधि ही पहुंचे थे और इस जनसुनवाई में आसपास के ग्रामीणों ने कई तरह की समस्या भी रखी है। प्रमुख मांग प्रदेश के बाहर से कंपनी के लिए मजदूर आयात न कर ज्यादा से ज्यादा स्थानीय लोगों को रोजगार दिया जाय ऐसी मांग गांव वालो द्वारा मजबूती से उठाई गई है।

इस सुनवाई के दौरान अपर कलेक्टर, एसडीएम, तहसीलदार सहित वन विभाग के अधिकारी व पुलिस बल मौजूद थे। दूसरी ओर कुछ स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने जनता का ख्याल रखे बगैर कंपनी प्रबंधन का साथ दिया। ग्रामीणों का आरोप है कि पूर्व योजना के अनुसार कम ही लोगों को इसकी जानकारी दी गई। कई ग्रामीणों ने प्लांट का विरोध भी किया। बहुतों ने वर्तमान स्थिति को देखते
हुए रोजगार देने की मांग रखी है। प्रबंध कमेटी ने गांव वालों को आश्वासन दिया है कि वे प्रभावित गांव और उनके रहवासियों के विकास को लेकर वचनबद्ध है।स्थानीय लोगों को रोजगार मिलने की बात पर उपस्थित गांववालो ने प्लांट को अपना आधे मन से समर्थन दिया।

कुम्हारी जलाशय से फैक्ट्री को पानी देने की योजना का पता चलने पर आम आदमी पार्टी और गांव वालों ने इस पर आपत्ति की है। उनका कहना है कि जब जलाशय का पानी किसानों के लिए ही दे पाना संभव नहीं है तो फैक्टरी को कैसे दिया जायेगा। किसानों ने भी विरोध दर्ज करते हुए कहा कि जब हमे खेती के लिए पानी नहीं दिया जा रहा इस जलाशय से तो इस फैक्ट्री का कैसे देने का उपाय हो रहा है।

आम आदमी पार्टी उपाध्यक्ष वदूद आलम ने भी सवाल किया है कि सिंचाई हेतु पानी नहीं है, ऐसे में वहां से कैसे फैक्ट्री को उसकी जरूरत के लायक पानी दिया जाएगा। लिहाजा इस मुद्दे पर जमकर विरोध हुआ और आने वाले दिनों में फैक्ट्री के कारण किसानों के हित प्रभावित होने की बात भी कही गई है।

आम आदमी पार्टी के उपाध्यक्ष वदूद आलम ने स्पष्ट और साफ कहा कि प्रबंधन अपने लिए पानी का प्रबंध स्वयं करें और कंपनी स्पष्ट करें कि वह भूजल स्त्रोत या अन्य स्रोतों से अपने लिए पानी की उपलब्धता किस तरह करेगी। जिस जलाशय से पानी देने की बात कही जा रही है, वह मृतप्राय है. ऐसे में कुम्हारी जलाशय से कंपनी को पानी नहीं दिया जा सकता है। आम आदमी पार्टी गांववालों के साथ खड़ी है और गांववालो और किसानों के हित में जनसुनवाई के लिए प्रयासरत है। बदलबों छत्तीसगढ़ 2023।

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,433FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles