Thursday, January 20, 2022

राष्ट्रीय चैम्पियनशिप कबड्डी टूर्नामेंट के लिए पालघर की शाहीन का चयन

Reported by : सलीम कुरेशी, पालघर

देश की 47 वीं कुमार राष्ट्रीय कबड्डी चैंपियनशिप 22 मार्च, 2021 से नए उभरे तेलंगाना राज्य के सूर्यापीठ में शुरू हो रही है। इस कबड्डी प्रतियोगिता के लिए पालघर जिले के सफाले क्षेत्र के शाहीन शेख को चुना गया है। पालघर जिला कबड्डी एसोसिएशन और कुर्लाई क्रीड़ा मंडल की खिलाड़ी कुमारी शाहीन शेख चयन महाराष्ट्र कबड्डी टीम में होने से इसके लिए शाहीन को बधाईयो का तांता लग गया है। पालघर जिले को शायद पहले भी ऐसा सम्मान मिला हो। हालांकि, शाहीन सफाले के एक बहुत ही गरीब मुस्लिम परिवार की लाडली बेटी है, जिस ने यह गौरव प्राप्त किया है, इस लिए शाहीन को विशेष बधाई। उनके परिवार ने उन्हें कबड्डी जैसे मैदानी खेल खेलने के लिए प्रोत्साहित किया। प्रगतिशील, सांस्कृतिक महाराष्ट्र के लिए यह एक शानदार गौरवशाली लम्हा है।

वह पालघर जिले की बहुत ही अच्छी खिलाड़ीयो में से एक हैं। पालघर जिले में कबड्डी को अधिक लोकप्रिय बनाने के लिए शाहीन जैसे और भी कई खिलाड़ी है जिनमे प्रतिभा की कमी नही, उन्हें और निखारना होगा। संस्कृति और खेल के प्रति उत्साही, खेल प्रेमी व पालघर ज़िला कबड्डी असोसिएशन के अध्यक्ष प्रवीण राउत पिछले एक दशक से अपने सहयोगियों के साथ पालघर ज़िले का नाम महाराष्ट्र और देश के कबड्डी के खेल के नक्शे पर गौरांवित कराने के जी जान से काम कर रहे हैं। इसलिए, पालघर के लिए शाहीन और अन्य महिला कबड्डी खिलाड़ियों का चयन होना एक सम्मान की बात है।

कबड्डी खेल के अच्छे कोच बुवा सालवी व डोंबिवली के रमेश देवदीकर ने पालघर ज़िले में कबड्डी के खेल को पहचान दिलाने के लिए पूरे समय काम किया था। प्रवीण राउत जिला कबड्डी एसोसिएशन के अध्यक्ष हैं, उनके साथ स्वर्गीय गोपालकृष्ण उर्फ ​​जी के पश्ते सर, उपाध्यक्ष वेलंकेश राउत, देवराम पाटिल, राज्य सचिव मनोज ठाकुर, अमर पशते, विक्रांत म्हात्रे आदि का काम सराहनीय है। पालघर के पूर्वी जंगलयुक्त इलाको में विशेष कर कुणबी समुदाय के युवाओं में कबड्डी खेल विशेष रूप से लोकप्रिय था। लेकिन हाल के दिनों में, पालघर जिले के सभी हिस्सों और सभी समाजो के युवा इस खेल की ओर आकर्षित होता जा रहा है।

शाहीन शेख मूल रूप से सफाले पश्चिम में एडवन के पास कोरे गांव की रहने वाली है। शाहीन के पिता बशीर शेख का चिकन का छोटासा व्यवसाय है। उनके पिता और माता परवीन शेख ने शाहीन को कबड्डी खेलने के लिए प्रोत्साहित किया। शाहीन अभिनव कॉलेज में कॉमर्स डिग्री कोर्स के दूसरे वर्ष में अध्ययनरत है। शाहीन शेख ने आज तक राज्य में कई स्थानों पर कबड्डी प्रतियोगिताओं में भाग लेकर अपना जलवा दिखाया है। अवसर, सही प्रशिक्षण और अच्छे गुणों के मार्गदर्शन को देखते हुए, कोई भी व्यक्ति इस अवसर को सोने में बदल सकता है। इसका एक अच्छा उदाहरण शाहीन शेख है।

शाहीन शेख ने 27 वीं किशोर समूह राज्य चैम्पियनशिप और चयन टेस्ट कबड्डी प्रतियोगिता, राजीव गांधी खेल अभियान, मंच जिला पुणे, दिग्रस अहमदनगर, कराड सतारा, वालवा सांगली, मालवा मुंबई, सिन्नर नासिक, जिन्तुर परभनी, चिप्लुन रत्नागिरी, बीड ज़िला आदि अनेक स्थानों पर अजिंक्यपद खेल प्रतियोगिता में भाग लेकर कबड्डी में अपना कौशल दिखाया है। शाहीन शेख की दृढ़ता, कड़ी मेहनत और असीम मेहनत को देखते हुए, इसमें कोई संदेह नहीं है कि वह जल्द ही राष्ट्रीय स्तर पर पालघर जिले का नाम रोशन करेगी।

भारतीय मुस्लिम समाज गरीबी में घिरा हुआ समाज है। इस समाज की अधिकांश समस्याओं को शिक्षा के माध्यम से हल किया जा सकता है, विशेषकर लड़कियों की शिक्षा के माध्यम से। प्रतिभा किसी एक जाति का एकाधिकार नहीं है। गरीबी की पीड़ा को दरगुज़र कर लगातार मेहनत कर सामाजिक जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में नाम कमाया जा सकता है, यह सिद्ध कर दिखाया है शाहीन शेख ने, कबड्डी के स्वदेशी खेल के महत्व और महिला समूह में योग्यता की आत्मा पर खेलने के कौशल के लिए शाहीन शेख को बधाई।


पालघर जिले के खेल-प्रेमी दाताओं और कबड्डी के लिए प्रयासरत कई लोगों ने शाहीन की अब तक की यात्रा में एक प्रमुख भूमिका निभाई है। यह खुशी और गर्व की बात है कि पालघर जिले का नाम शाहीन और अन्य पालघर के खिलाड़ियों के अवसर पर खेल के क्षेत्र में महाराष्ट्र और देश के मानचित्र पर है।

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,122FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
spot_img
spot_img

Latest Articles