Sunday, August 14, 2022

गुजरात में 10लाख पशुओं को दी गई टीके की खुराक

सांकेतिक तस्वीर

गुजरात में 10लाख पशुओं को दी गई टीके की खुराक

गांधीनगर : गुजरात के कृषि, पशुपालन और गौ संवर्धन मंत्री राघवजी पटेल ने कहा कि प्रभावित जिलों में अब तक 10 लाख छह हजार से अधिक पशुओं को टीके की खुराक दी गई है। टीकाकरण के लिए वैक्सीन की छह लाख से अधिक डोज उपलब्ध है। श्री पटेल ने कहा कि यह वायरस अभी 20 जिलों में फैला है और कच्छ इसका केंद्र है। उन्होंने कहा, ” मेरा विभाग पशुपालकों को व्यापक पैमाने पर प्रभावित होने से बचाने के लिए अभी पूरी मुस्तैदी के साथ कार्यरत है। मुख्यमंत्री की देखरेख में विभाग ने युद्धस्तर पर मवेशियों का समय पर टीकाकरण सुनिश्चित किया है।

उन्होंने कहा कि प्रभावित जिलों में अब तक 10 लाख छह हजार से अधिक पशुओं को टीके की खुराक दी गई है। टीकाकरण के लिए वैक्सीन की छह लाख से अधिक डोज उपलब्ध हैं। यह वायरस अभी 20 जिलों में फैला है और कच्छ इसका केंद्र है। राज्य सरकार 1746 गांवों में 50,000 से अधिक प्रभावित पशुओं को उपचार सुविधा मुहैया कराने में सफल रही है। वायरस के प्रसार पर काबू करने के प्रयासों के तहत पशुओं की आवाजाही पर रोक की अधिसूचना जारी की गई है। हाल ही में मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने कच्छ के आइसोलेशन सेंटर का दौरा कर जिला प्रशासन की तैयारियों की समीक्षा की थी।

अकेले कच्छ में ही 37,840 मवेशी वायरस से प्रभावित हुए हैं। यहां प्रभावित मवेशियों को स्वस्थ पशुओं से अलग करने के लिए जिले की 10 तहसीलों में 26 आइसोलेशन सेंटर बनाए गए हैं। जिले में 58 वेटरनरी एंबुलेंस कार्यरत है। प्रभावित क्षेत्रों में 269 अतिरिक्त मोबाइल वेटरनरी क्लिनीक और करुणा एंबुलेंस का उपयोग किया जा रहा है। जिला प्रशासन बाकी बचे 3.30 पशुओं को टीका लगाने के लिए रोजाना 20 हजार पशुओं का टीकाकरण कर रहा है। वहीं पशुपालकों को मार्गदर्शन देने के लिए हेल्पलाइन नं. 1962 चौबीसों घंटे, सातों दिन कार्यरत है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार जागरुकता फैलाने के लिए सोशल मीडिया का भी उपयोग कर रही है, ताकि इस संबंध में उठाए जा रहे कदमों को लेकर बड़े पैमाने पर लोग और विशेषकर पशुपालक जागरुक रहें। श्री पटेल ने किसानों और पशुपालकों से जागरुक रहने की अपील करते हुए उनसे अनुरोध किया है कि वे सरकार के प्रयासों में पर्याप्त सहयोग दें। उन्होंने कहा कि हम साथ मिलकर इस बीमारी को दूर करने में सफल होंगे।

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,434FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles