Monday, September 26, 2022

CRPF ने संसद, सरदार पोस्ट, भगवान राम लला को बचाया और बदले में सरकार ने पेंशन बंद कर दी – रणबीर सिंह

नई दिल्ली :
अगर सीआरपीएफ के जांबाज ना होते तो ना सरदार पोस्ट रहता, ना लोकतंत्र का मंदिर संसद रहता, ना भगवान राम लला होते और नाही हॉट स्प्रिंग्स लद्दाख रहता। इतिहास में वीरता एवं शहादतों के सैकड़ों किस्से भरे पड़े हैं इन विश्व शांति रक्षकों के। शहादत देने में सबसे आगे।

कॉनफैडरेसन आफ एक्स पैरामिलिट्री फोर्सेस मार्टियरस वेलफेयर एसोसिएशन महासचिव रणबीर सिंह ने प्रैस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा कि 14 फरवरी 2019 को पुलवामा में 40 जवान आईडी ब्लास्ट में शहीद हुए, जिनकी शहादत को 2019 के आम चुनावों में इस्तेमाल किया गया। डरावनी भयावह नक्सली हमला 6 अप्रैल ताड़मेटला छत्तीसगढ़ जब 76 जवान शहीद हुए और शवों के लिए तिरंगे कम पड़ गए थे। 21 अक्टूबर 1959 शातिर ड्रैगन ने हॉट स्प्रिंग्स लद्दाख पोस्ट पर हमला किया, जिसमें सीआरपीएफ के 10 जवान शहीद हुए थे, उन बहादुर जवानों की याद में 21 अक्टूबर को पुरे देश में पुलिस शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है। 8-9 अप्रैल 1965 की रात जब पाकिस्तान की 51 इन्फैंटरी ब्रिगेड के 3400 जवानों को द्वितीय बटालियन की छोटी टुकड़ी द्वारा दुश्मन को धूल चटाई थी जिसमें 34 पाकि मारे गए जिसकी भूरी भूरी प्रशंसा उस वक्त के गृह मंत्री गुलज़ारीलाल नन्दा ने की थी। उसी 9 अप्रैल को सीआरपीएफ द्वारा शौर्य दिवस के रूप में मनाया जाता है।

रणबीर सिंह आगे कहते हैं कि सीआरपीएफ जिसकी नफरी साढ़े तीन लाख है जिसको 1950 में सरदार पटेल द्वारा महान फोर्स को प्रेजिडेंशियल कलर प्रदान किया गया था फिर हमारे शहीद परिवारों के कल्याणार्थ पैरामिलिट्री फ्लैग डे कोष क्यों नहीं। राज्यों की कानून व्यवस्था बनाए रखने में स्थानीय पुलिस प्रशासन को सहयोग, समय-समय पर होने वाले चुनावों में निष्पक्षता, आगजनी दंगा फसाद, नक्सलियों, आतंकवादियों को काबू पाने में बड़ी कामयाबी हासिल की है। जिनका लक्ष्य समाज में आपसी सामाजिक सौहार्द एवं भाईचारा कायम करना फोर्स का आदर्श वाक्य “सेवा एवं निष्ठा”। लेकिन जहां तक सुविधाओं का सवाल है सीआरपीएफ ही नहीं बल्कि पुरी पैरामिलिट्री के जवान व कैडर आफिसर्स अपने को ठगे से महसूस कर रहे हैं। ना पैंशन, ना वन रैंक वन पेंशन और ना ही रिहैबिलिटेशन लेकिन शहादत का सिलसिला बदस्तूर जारी है।

रणबीर सिंह के कहे अनुसार देश की एक मात्र अकेली मार्टियरस वेलफेयर एसोसिएशन जिसके चेयरमैन पुर्व एडीजी श्री एचआर सिंह ने कॉन्स्टीट्यूशन क्लब से पुलवामा डे पर 14 फरवरी 2023 को जायज़ मांगों व सुविधाओं को लेकर जंतर मंतर एक्स पैरामिलिट्री रैली का ऐतिहासिक ऐलान किया।

दिसम्बर 13 पाक आतंकी हमले से सीआरपीएफ ने देश की संसद को बचाया और सरकार ने इनाम के तौर पर वन रैंक वन पेंशन देने के बजाय पुरानी पैंशन ही खत्म कर दी। देश वासियों के सामने एक सवाल मुंह बाए खड़ा है कि ढाई दिन के सांसद को पैंशन और जो 40 साल देश सेवा दे उन अर्ध सैनिक बलों की पैंशन बंद।

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,498FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles