Friday, February 23, 2024

बस्तर संभाग के चार बड़े अधिकारी ईडी के रडार में,कभी भी हो सकते है तलब

-माईनिंग घोटाले की आंच बस्तर तक पहुंची
-डीएमएफएवं माईनिंग दस्तावेज खंगाले जाने की खबर
-खदान आबंटन में करोड़ों की चपत

जगदलपुर। छग में प्रवर्तन निदेशालय द्वारा जारी खदान घोटाले जांच की आंच बस्तर तक पहुंच गई है। बस्तर संभाग के 4 बड़े अधिकारी भी ईडी के रडार में आ चुके है। इन अफसरों को कभी भी दफ्तर तलब किया जा सकता है। खबर है कि ईडी के साथ-साथ इनकम टै?स के अधिकारी बस्तर, कोण्डागांव,कांकेर, दंतेवाड़ा में माईनिंग और डीएमएफ दस्तावेज की फाईल खंगाले जाने की खबर है। खदान आबंटन मामले में करोड़ों के अदान-प्रदान की खबर भी दिल्ली तक पहुंच चुकी है अब इस मामले से जुड़े अफसर की परेशानियां दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। खनिज विभाग के साथ बस्तर संभाग में लोक निर्माण,वन विभाग,स्वास्थ्य विभाग एवं शिक्षा विभाग में बड़े घोटाले का खेल चल रहा है। छग में लगातार घोटाले की परत खुलने के बाद माईनिंग घोटाले की आंच बस्तर तक पहुंच चुकी है। ईडी के इस जांच में बस्तर संभाग के चार बड़े अफसरो के साथ-साथ खनिज विभाग के अधिकारी भी रडार पर है जिननकी कुण्डली खंगालने की कवायद भी हाईलेबल पर शुरू हो चुकी है। राजधानी में मारे गये छापेपार कार्रवाई के दौरान बरामद दस्तावेज में मिले सुराग में बस्तर संभाग के अफसरों का भी इस घोटाले से तार जड़े जुड़े होने से चार अफसर ईडी के रडार में आ चुके है। कोरबा से बस्तर आये जिला खनिज अधिकारी से हुई पूछताछ के बाद ईडी के अधिकारी माईनिंग और डीएफ के दस्तावेज खंगालकर घोटाले का पर्दाफाश करने में जुट गये है और इस मामले में जुड़े अधिकारी मामले से बचने जोड़तोड़ में लग गये है।

खदान घोटाले में करोड़ों का खेल: दंतेवाड़ा जिले के बैलाडीला खदान में एक कंपनी को एनओसी देने एवं कांकेर जिले में माईनिंग लीज दिए जाने में करोड़ों का घालमेल होने के दस्तावेज मिलने से ईडी इन मामलों से जुड़े एक-एक दस्तावेजो की जांच करने में जुटी है। खबर है कि खनिज विभाग के अधिकारी भी आबंटन के दौरान सौदेबाजी के खेल में जमकर डुबकी लगाते हुए मालामाल हुए है जो वर्तमान में दिगर जिलों में अपनी पदस्थापना भी करा चुके है। खनिज घोटाले में अफसरों के साथ-साथ खनिज अधिकारी घोटलो में बराबर की भूमिका अदा करने के दस्तावेज में खुलासा होने की खबर है। ईडी दस्तावेज पड़ताल पूरी होते ही बस्तर अंचल के अफसरों को कभी भी कर सकती है तलब। माईनिंग मामले की फाईल अटकी: खनिज मामले से जुड़े बस्तर अंचल की कई फाईल राजधानी भौमिक दफ्तर में लंबे समय से अटकी है। एक आईएएस अफसर के घर छापेमारी के बाद उक्त दफ्तर की सारी फाईले धूल खा रही है। महिला आईएएस अफसर के काफी करीबी रिश्तेदार है जो उक्त दफ्तर के डायरेक्टर है जिनके द्वारा खनिज संबंधित मामले की सुनवाई की जाती है। विगत छह माह से सुनवाई नहीं होने के कारण बस्तर सहित प्रदेशभर की कई फाईले अटकी हुई है। राज्य सरकार ने भी जनता से जुड़े मामलों पर ध्यान केन्द्रीत नहीं होने से लोगों मेंभी आक्रोश है। भाजपा नेता ने पीएमओ को लिखा पत्र: बस्तर संभाग के कुछ अफसरों के ईउी के रडार में होने की चर्चा के बाद बस्तर अंचल के एक भाजपा नेता ने पीएमओ कार्यालय को पत्र लिखकर ऐसे विवादित अफसर जो खनिज घोटाले में संलिप्त है उन्हें बस्तर अंचल के महत्वपूर्ण पदों से हटाने की मांग की है ताकि मामले की पड़ताल में रूकावट न आ सके। उन्होंने पत्र में लिखा है कि ऐसे भ्रष्ट अधिकारी अपने पदो पर रहते दस्तावेजों से भी छेडख़ानी कर सकते है।

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,909FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles