Wednesday, July 6, 2022

छ.ग./ हसदेव अरण्य बचाने आप के मुख्यमंत्री निवास घेराव में अभूतपूर्व प्रतिसाद

जान भी दे देंगे पर हसदेव अरण्य में जंगल कटने नही देंगें-संजीव झा प्रदेश प्रभारी,आप

मुख्यमंत्री बोरे बासी त्यौहार की नौटंकी करतें हैं, आदिवासियों की कोई चिंता नहीं -कोमल हुपेंडी

रायपुर,21 मई 2022। आज आम आदमी पार्टी छत्तीसगढ़ द्वारा हसदेव अरण्य के जंगल को बचाने मुख्य्मंत्री निवास का घेराव किया गया। आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रभारी संजीव झा के नेतृत्व में प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी के संयोजन में घेराव किया। इस घेराव में आसपास से बड़ी संख्या में आप के कार्यकर्त्ता पहुंचे।

कार्यकाताओं को सम्बोधित करते हुए संजीव झा ने कहा कि –
हसदेव अरण्य में आदिवासी लगातार विरोध कर रहे है और पर्यावरण विशेषज्ञों की चेतावनी के बाद भी राज्य की कांग्रेस सरकार ने परसा कोयला खदान को मंजूरी दे दी है। हसदेव अरण्य के गांव में ही कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पिछले विधानसभा चुनाव से पूर्व कहा था कि अगर कांग्रेस सरकार में आई तो वे आदिवासियों के साथ खड़े रहेंगे और कोयला खदान नहीं खुलने देंगे। सरकार बनने के बाद सब कुछ भूलकर कांग्रेस सरकार ने खदानों को मंजूरी देना शुरु कर दिया है।

ये छत्तीसगढ़ के जल जंगल जमीन बचाने की लड़ाई है। उन्होंने कहा कि भूपेश बघेल जी अगर आप छत्तीसगढ़िया हैं तो आपको यहां के आदिवासियों और जंगल जमीन को बचाना चाहिए, पर आप ये नहीं बचा पा रहे हो तो आप छत्तीसगढ़िया नहीं हो। ये कांग्रेस और भाजपा जंगल काटने में अडानी की दलाली कर रहे हैं पहले भाजपा ने की और अब कांग्रेस कर रही है।

संजीव झा ने कहा कि केजरीवाल जी हमेशा कहते हैं कि ये भाजपा कांग्रेस भाई भाई हैं ये आपस में मिले हुए हैं। अब आपका खेल बिगाड़ने छत्तीसगढ़ में आम आदमी पार्टी आ गयी हैं । अब इन दोनों का जनता को बेवकूफ़ बनाने का खेल नहीं चल पायेगा। आम आदमी पार्टी का इतिहास देख लो आप सबसे पहले मुख्यमंत्रियों की विधान सभा चुनावों 5में ज़मानत जप्त करवा देती है, चाहे वो दिल्ली हो या पंजाब। ये लड़ाई हसदेव नहीं छत्तीसगढ़ बचाने की है और जब तक भूपेश सरकार जंगल काटने का फरमान वापिस नहीं लेती तब तक ये लड़ाई चलेगी इसके लिए छत्तीसगढ़ का हर नागरिक संघर्ष करेगा और आम आदमी पार्टी का कार्यकर्त्ता अपनी जान लड़ा देगा।

प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी ने कहा कि मुख़्यमंत्री बोरे बासी त्यौहार मनाने कि नौटंकी कर रहे हैं उन्हें यहां के आदिवासियों और जंगल जमीन कि चिंता नहीं है। सरकार अडानी की गोद मे जाकर बैठ चुकी है लेकिन हम हसदेव अभ्यारण्य में खदानों के कोई काम नही होने देंगे चाहे हमें कुछ भी करना पड़े। इतने विरोध के बावजूद भी सरकार सुप्त अवस्था में है,और भाजपा चिड़ी चुप क्योंकि

भाजपा कांग्रेस भाई भाई,
गले मिलके खाई मलाई।

आम आदमी पार्टी हसदेव अरण्य में जंगल उजाड़ने और आदिवासियों को विस्थापित करने का पुरजोर विरोध कर रही है, इसी के मद्देनज़र दोगलेपन के साथ कुम्भकरणी नींद में सोई हुई सरकार को जगाने आम आदमी पार्टी ने 21 मई 2022 को मुख्यमंत्री आवास का घेराव का सफल आयोजन किया जिसमें आम जन का भरपूर सहयोग और समर्थन मिला है।

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,378FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles