Monday, May 23, 2022

दुनिया की पहली DNA वैक्सीन Zycov-D को भारत में मंजूरी मिली,अक्टूबर से लगेगी बच्चो को वैक्सीन

नई दिल्ली: दुनिया की पहली DNA वैक्सीन Zycov-D को भारत में मंजूरी मिल गई है. अब NTAGI चीफ एनके अरोड़ा ने बताया कि अक्टूबर से बच्चों को टीका लगेगा. इसमें भी गंभीर बीमारी वाले बच्चों की लिस्ट तैयार होगी. टीका सबसे पहले इन्हीं बच्चों को लगेगा. वैसे राज्य सरकारों को सुझाव है कि बौद्धिक विकास के लिए प्राथमिक स्कूल जल्दी खोलें. 12 से 17 के बीच के गंभीर बीमारी वाले बच्चों की एक सूची (List) तैयार की जाएगी, ताकि टीके की प्राथमिकता तय की जाए. Zycov D वैक्सीन के Roll out से पहले ये लिस्ट सार्वजनिक की जाएंगी. इस लिस्ट के आधार पर अक्टूबर से 12 से 17 के बीच के गंभीर बीमारी वाले बच्चे को टीका मिलना शुरू हो जाएगा.
गंभीर बीमारी वाले बच्चों को लगेगा पहले टीका
12 से 17 साल के 12 करोड़ बच्चे हैं. स्वस्थ बच्चों में गंभीर बीमारी या मृत्यु की संभावना न के बराबर है. 18- 45 साल के बीच के लोगों में गंभीर बीमारी होने की संभावना 10 से 15 गुना ज़्यादा होती है. चिंता Comorbidity (गंभीर बीमारी) वाले बच्चों को लेकर है इसलिए उनको टीकाकरण में प्राथमिकता है.

स्कूल खोलने को लेकर ये बयान

18 साल से कम के देश में करीब 44 करोड़ बच्चे हैं. डेढ़ साल के अनुभव के आधार पर जानकारी है कि बच्चों में इन्फेक्शन होता है पर गंभीर बीमारी या मृत्यु की संभावना न के बराबर होती है. संक्रमण के प्रसार में बच्चों की भूमिका होती है पर बीमारी का ज्यादा असर नहीं होता है.बच्चों के स्कूल खोले जा सकते हैं, टीकाकरण की इस वक्त ज़रूरत नहीं, लेकिन स्कूल के कर्मचारियों का टीकाकरण ज़रूरी है. राज्य सरकारों को सुझाव रहेगा कि बच्चों के बौद्धिक विकास के लिए जितनी जल्दी प्राथमिक स्कूल खोल सकते हैं.

इस वैक्सीन को मंजूरी मिलने के बाद देश में अब कोरोना के खिलाफ 6 वैक्सीन से लोगों को सुरक्षा दी जा सकेगी. कंपनी ने कहा कि उसकी सालाना ZyCoV-D की 100 मिलियन से 120 मिलियन खुराक बनाने की योजना है. कंपनी ने वैक्सीन का स्टॉक करना भी शुरू कर दिया है. कैडिला हेल्थकेयर लिमिटेड के रूप में सूचीबद्ध जेनेरिक दवा निर्माता ने 1 जुलाई को ZyCoV-D के प्राधिकरण के लिए आवेदन किया था. वैक्सीन का ट्रायल 28,000 से अधिक स्वयंसेवकों पर किया गया है. परीक्षण में इसकी प्रभावकारिता 66.6 प्रतिशत आकी गई है. ZyCoV-D कोरोनावायरस के खिलाफ दुनिया का पहला प्लास्मिड डीएनए वैक्सीन है. यह वायरस से आनुवंशिक सामग्री के एक हिस्से का उपयोग करता है.

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,321FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
spot_img
spot_img

Latest Articles