Saturday, June 15, 2024

रेलकर्मी द्वारा किया गया धोखाधड़ी, पीड़ित ने लगाया न्याय की गुहार।मामला रायपुर के शिवानंद नगर खमतराई क्षेत्र का

Reported By:- दिनेश चन्द्र कुमार

पूर्व रेलकर्मी द्वारा किया गया धोखाधड़ी, पीड़ित ने लगाया न्याय की गुहार।
मामला रायपुर के शिवानंद नगर खमतराई क्षेत्र की है पूर्व रेलकर्मी टी गोपी द्वारा अन्य लोग के साथ मिलकर एक महिला (एम लक्ष्मी) के साथ जमीन/मकान दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी किया गया है मालूम हो कि गोंदवारा पर,ह, नं 108, गोंदवारा स्थित खसरा नंबर 255/7-8 ,900 वर्गफीट डूप्लेक्स मकान दिखाकर बैंक फैयनेंस कर पीड़ित महिला को गोंदवारा पर,ह, नं,108, खसरा नंबर 699/4 रकबा 1000, वर्गफीट रजिस्ट्री कर धोखाधड़ी किया गया है, पीड़ित महिला द्वारा निरंतर प्रतिमाह 15,300 ई एम आई (बैंक किस्त) जमा करते आती रही है जब पीड़िता ने तय मकान सौदा की बात करने पर तथा पुर ज़ोर दबाव देने पर अपने आरोप से बचने आरोपी टी गोपी व अन्य महिला विक्रेता द्वारा पीड़ित महिला को अपने अपने बैंक अकाउंट चेक दिया गया, पर समय सीमा में दी गई चेक खाता में रकम नहीं होने पर बैंक द्वारा चेक बाउंस प्रमाणित कर दिया गया है, पीड़ित महिला ने विगत वर्ष 28/12/21 को पुलिस अधीक्षक को लिखित शिकायत की गई जिस पर संबंधित खमतराई थाना में जांच हेतु दिनांक 01/01/22 को अग्रेषित किया गया परन्तु आज दिनांक तक पुलिस जांच लंबित चल रही है समय रहते पीड़ित महिला को न्याय के लिए दर दर भटकना पड़ रहा है, यह मामला आरोपी के लिए नया नहीं है चूंकि आरोपी द्वारा कई लोगों को चुना लगाया जा चुका है विगत वर्ष 28 /12/2011 को एक अन्य महिला के साथ मकान दिलाने के नाम पर 12 लाख की ठगी की गई है जिसकी शिकायत पीड़ित महिला ने थाना खमतराई में की है, विश्वसनीय सूत्रों के अनुसार आरोपी टी गोपी के द्वारा अन्य जगहों (प,ह, नं,108/37-38) की बचत खाता भूमि की रकबा खाता को संबंधित क्षेत्र के पटवारी से सांठगांठ कर रेलवे जमीन पर खाता बैठाकर अन्य लोगों को अपना भू स्वामित्व बताकर (ठगी कर )बेचा गया है, रेल विभाग से जानकारी लेने पर (वरिष्ठ अनुभाग अभियंता ) मंडल रेल प्रबंधक रायपुर द्वारा जानकारी देकर पुष्टि की गई है की रेल भूमि पर कुछ अवैध निर्मित मकानों को वाद – विवाद के कारण हटाया नहीं जा सका है तथा रेलवे जमीन को लेकर मामला माननीय न्यायालय में लंबित है यह रेलवे विभाग का कहना है परन्तु सबसे बड़ी बात का खुलासा यह है कि रेलवे विभाग में माननीय न्यायालय में लंबित चल रहे मामले की कोई जानकारी /दस्तावेज रेल विभाग में मौजूद नहीं हैं जिससे की रेल विभाग भी संदेह के घेरे में घिरती सी नजर आ रही है रेल विभाग के रेलकर्मी टी गोपी अपने पद का दुरूपयोग कर रेल भूमि पर अतिक्रमण कर अवैध कब्जा किया जाना सुनिश्चित होता नज़र आ रही है जिसे नकारा नहीं जा सकता, वर्तमान में पीड़ित महिला द्वारा टी गोपी व अन्य महिला के खिलाफ शिकायत करने पर टी गोपी द्वारा किसी ना किसी रूप से पीड़ित महिला को धमकाया जा रहा है जिसकी शिकायत पीड़ित महिला ने थाना खमतराई में की है परन्तु शिकायत करने के बावजूद आज तक आरोपियों के खिलाफ कार्यावाही नहीं किया गया, जिससे पुलिस कार्रप्रणाली संदेहास्पद नजर आ रही है पीड़ित महिला को न्याय के लिए दर दर भटकना पड़ रहा है शायद लगता है कि पीडीतो के लिए न्याय पाने के लिए कोई स्थान नहीं बचा है तभी पीड़ित महिला न्याय पाने दर दर भटक रहीं हैं अब देखना यह है कि शासन प्रशासन, पुलिस विभाग,पीडीता महिला को कब न्याय दिलाती है।या फिर आरोपी द्वारा पुलिस प्रशासन को पहले की तरह गुमराह कर बच निकलने में कामयाब होता है ।

पूर्व में एक अन्य महिला के साथ धोखाधड़ी करने के आरोप में थाना खमतराई में धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है।

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,909FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles