Tuesday, July 5, 2022

राजधानी रायपुर में जनता की जान जोखिम में डालने वाला कौन ?

Reported by : दिनेश चन्द्र कुमार, Edited by : नाहिदा कुरैशी (http://chhattisgarhdigest.in)

रायपुर / राजधानी में जनता की जान जोखिम में डालने वाला कौन ?

Raipur /   राज्य शासन द्वारा कोरोना वायरस (कोविड – 19) से बचाव, रोकथाम के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर सभी आवश्यक कदम उठाये जा रहे हैं. राज्य में कोरोना वायरस की महामारी से बचाव हेतु छत्तीसगढ़ शासन के विशेष प्रयासों से कोरोना वायरस से बचाव के लिए हर संभव कदम बडी सुझबुझ के साथ उठाई जा रही है.

रायपुर छत्तीसगढ़ पहुंचे लोगों की स्वास्थ्य जांच और कोरोना टेस्ट किया जा रहा है. कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए छत्तीसगढ़ राज्य में अन्य राज्यों से स्वयं के साधन से आवागमन की अनुमति के संबंध में अपर मुख्य सचिव गृह द्वारा 3 मई को सभी जिला कलेक्टरों को निर्देश जारी किए गए हैं. जारी आदेश में कलेक्टरों एवं पुलिस अधीक्षकों को निर्देशित किया गया है कि देश के अन्य हॉटस्पाट जिलों से छत्तीसगढ़ राज्य के अंदर आने वाले व्यक्तियों को भारत सरकार गृह मंत्रालय द्वारा जारी आदेश के अनुसार अमान्य कारणों एवं गतिविधियों के लिए प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाऐगी.

राज्य से अन्य राज्यों में स्वयं साधन से एक तरफ यात्रा पर जाने के लिए आवेदक के निवास स्थान में जिला दण्डाधिकारी द्वारा भारत सरकार गृह मंत्रालय, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय तथा राज्य शासन के आदेशों तथा एस ओ पी के अनुसार अनुमति जारी की जा सकेगी. मृत्यु, मेडिकल इमरजेंसी एवं अन्य आपातकालीन मामलों में जिनके स्वयं के साधन से आने-जाने दोनों तरफ की अनुमति की आवश्यकता हो ऐसे प्रकरणों में (गृह) पुलिस विभाग की अनुमति आवशयक होगी.

गृह विभाग द्वारा जारी अनुमति के तहत छत्तीसगढ़ आने वाले व्यक्तियों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी एस ओ पी के अनुसार स्वास्थ्य परीक्षण, होम क्वारेंटाइन, आईशोलेशन सेंटर में रहने संबंधी निर्देशों का पालन सुनिश्चित कराया जाऐगा, अन्य राज्यों से आए व्यक्तियों की RT – PCR टेस्ट जांच के बाद ही अंतिम रूप से पुष्टि की जाऐगी, बता दें कि रैपिड टेस्ट किट से जांच किया जाना सुनिश्चित हैं पर माना जाता है कि RT – PCR जांच के बाद ही कोरोना की पुष्टि होगी.

सूत्रों के अनुसार हाल ही में आंध्रप्रदेश से रायपुर के थाना खमतराई क्षेत्र शिवानंद नगर में लॉकडाउन के दौरान आंध्रप्रदेश से आकर अपने घर में ही छिपे बैठे हैं कुछ निवासी. शिवानंद नगरवासियों द्वारा थाना खमतराई पुलिस एवं स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जारी कि गई नंबर 104 में सूचना दिया गया. बावजूद इस सुचना पर राज्य स्वास्थ्य विभाग एवं थाना पुलिस की कार्यवाही भी उचित समय पर होती नजर नही आ रही है. बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमण के फैलने से बचाव हेतु लॉकडाउन के दौरान राज्य में अन्य राज्यों से आये विध्यार्थियों एवं कई लोगों को राज्य शासन ने स्वास्थ्य परीक्षण बाद क्वारेंटाइन किया हुआ है.

राज्य शासन को बिना सुचना के अन्य राज्य से आकर छुप कर रहने के मामलें पर छत्तीसगढ़ डाइजेस्ट के सिविल पत्रकार दिनेश चन्द्र कुमार ने जब थाना पुलिस से बातचीत की कोशिश की तो, थाना टी. आई. द्वारा दिए गये जवाब से संदेह उत्पन्न होता है कि राज्य के स्वास्थ्य विभाग एवं पुलिस विभाग की कार्यवाही त्रुटीपूर्ण नजर आ रही है. जिससे कोरोना संक्रमण के फैलने पर लगाम लगाने की कोशिश विफल हो सकती है.

मामलें की जानकारी के लिए पत्रकार द्वारा थाना खमतराई प्रभारी से फोन पर बातचीत करने की कोशिश की गयी थी, बातचीत के कुछ अंश.

ज्ञात हो कि राज्यों को ग्रीन जोन में बाटने दौरान छत्तीसगढ़ राजधानी रायपुर भी रेड जोन में ही सम्मिलित किया गया है. पर सवाल ये है कि गृह मंत्रालय, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा राज्य शासन के निर्देशों – आदेशों के बावजूद रायपुर छत्तीसगढ़ में लॉकडाउन के दौरान इंट्री कैसे हो गई, और लॉकडाउन, क्वारंटाइन का उल्लंघन कर आंध्रप्रदेश से रायपुर आने की जानकारी पुलिस से क्यों छुपाई गई हैं. और जानकारी मिलने पर भी थाना प्रभारी द्वारा उचित कार्यवाही न करना आम जनता के स्वास्थ्य को लेकर लापरवाही बरतने पर सवाल खड़े करती है ?

लॉकडाउन, क्वारंटाइन उल्लंघन करने एवं अन्य राज्यों से आने की जानकारी छिपाने जाने पर पुलिस द्वारा IPC की धारा 188,269,270 के तहत मामला दर्ज किया जाना सुनिश्चित है. केंद्र एवं राज्य सरकारों द्वारा कोरोना वायरस (कोविड – 19) से बचाव, रोकथाम के लिए आवश्यक कदम उठाने के बावजूद ऐसे गैरजिम्मेदार लोगों द्वारा अन्य राज्यों से आने की जानकारी छिपाकर एवं केन्द्र – राज्य सरकारों की निर्देशों का खुला उल्लंघन किया जाना एवं पुलिस को आने की जानकारी ना देना किसी बड़े खतरे की शंका दर्शाता है.

सवाल यह है कि अन्य राज्य से आने की जानकारी शासन प्रशासन से क्यो छिपाई गई संबंधित क्षेत्र पुलिस द्वारा लॉकडाउन क्वारंटाइन उल्लंघन करने एवं जानकारी छिपाने पर पुलिस ने IPC की धारा 188, 269, 270 के तहत अपराध दर्ज क्यो नही किया ? थाना खमतराई प्रभारी से संपर्क करने पर उनके द्वारा बताया गया कि शिकायत मिलने पर पुलिस टीम गई थी, जो व्यक्ति आंध्रप्रदेश से शिवानंद नगर रायपुर आये थे वे वापस चले गये हैं. छत्तीसगढ़ डाइजेस्ट द्वारा पूछा गया कि अन्य राज्य से आने की जानकारी छिपाने पर पुलिस ने उचित कार्रवाई क्यूँ नही की है, तो थाना प्रभारी द्वारा कहा गया कि इस पर कोई मामला अपराध नहीं बनता है।

इन सभी पहलुओं को देखते हुए एक ही सवाल उठ रहा है कि क्या अन्य राज्यों से आये व्यक्ति द्वारा जानकारी छिपाने पर, एवं पुलिस द्वारा ऐसे लोगों पर केंद्र – राज्य सरकार के निर्देशों का उल्लंघन करने की कार्यवाही ना किया जाना, एक प्रश्न चिन्ह है ?

ऐसे में जनता की जान जोखिम में डालने वाला आखिर कौन है ?

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,377FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles