Thursday, December 8, 2022

Lockdown में बांद्रा स्टेशन पर घर लौटने के लिए जमा हुए हजारों प्रवासी मजदूर पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज

लॉकडाउन खत्म होने और अपने घर लौटने की उम्मीद में मुबंई के बांद्रा में भारी संख्या में प्रवासी मजदूर जमा हो गए थे. ये सभी मजदूर अपने घर लौटना चाह रहे थे.

मुंबई : देश में कोरोना संकट को लेकर लॉकडाउन (Coronavirus Lockdown) जारी है. लॉकडाउन के पहले चरण की समाप्ति आज होनी थी, लेकिन कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए इसे तीन मई तक के लिए बढ़ा दिया गया. पीएम मोदी (PM Modi) ने राष्ट्र के नाम संबोधन में इसकी घोषणा की. बता दें कि लॉकडाउन खत्म होने और अपने घर लौटने की उम्मीद में मुबंई के बांद्रा (Bandra) में भारी संख्या में प्रवासी मजदूर जमा हो गए थे. ये सभी मजदूर अपने घर लौटना चाह रहे थे. लेकिन इस बीच वहां बढ़ती भीड़ के कारण भगदड़ मच गई और इसे नियंत्रण में लाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा. 

ANI@ANI

Mumbai: A large group of migrant labourers gathered in Bandra, demanding for permission to return to their native states. They later dispersed after police and local leaders intervened and asked them to vacate.

View image on Twitter
View image on Twitter

2,6836:02 PM – Apr 14, 2020Twitter Ads info and privacy828 people are talking about this

Waris Pathan@warispathan

Live video. Bandra Mumbai.

Lockdown Extend hone par labourers and migrant workers ka Protest demanding || Ghar Wapas Bhejo|| Bandra #MumbaiLockdown1,0645:28 PM – Apr 14, 2020Twitter Ads info and privacy548 people are talking about this

AIMIM नेता वारिस पठान ने घटना का एक वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, ‘लॉकडाउन बढ़ने पर प्रवासी मजदूरों ने मुंबई के बांद्रा में प्रदर्शन किया और घर वापस भेजा का नारा लगाया.’

Aaditya Thackeray@AUThackeray

The current situation at Bandra Station, now dispersed or even the rioting in Surat is a result of the Union Govt not being able to take a call on arranging a way back home for migrant labour. They don’t want food or shelter, they want to go back home20.5K6:13 PM – Apr 14, 2020Twitter Ads info and privacy16.5K people are talking about this

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और मुख्यमंंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे ने भी मामले को लेकर ट्वीट किया. आदित्य ठाकरे ने ट्वीट किया, ‘बांद्रा स्टेशन की मौजूदा स्थिति, या यहां तक कि सूरत में दंगा भी हो रहा है, यह केंद्र सरकार द्वारा प्रवासी श्रमिकों के लिए घर वापस जाने की व्यवस्था करने में सक्षम नहीं होने का एक परिणाम है. वे भोजन या आश्रय नहीं चाहते, वे घर वापस जाना चाहते हैं.

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,601FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles