Thursday, July 7, 2022

Solar Eclipse 2020 : 2020 का पहला सूर्य ग्रहण करीब 6 घंटों तक प्रभावी रहेगा, भारत समेत इन देशों में दिखाई देगा.

रायपुर : इस साल का पहला सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) 21 जून यानि कि रविवार को लगने वाला है. यह इस साल का पहला सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse 2020) है. भारतीय समयानुसार यह ग्रहण (Surya Grahan 2020) सुबह 9 बजकर 15 मिनट से शुरू होगा. सूर्य ग्रहण शुरुआत में आंशिक सूर्य ग्रहण होगा और 10 बजकर 17 मिनट तक यह पूर्ण सूर्य ग्रहण की तरह दिखाई दे सकता है. पूर्ण सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse) रविवार दोपहर को 2 बजकर 2 मिनट पर समाप्त होगा. जबकि आंशिक सूर्य ग्रहण 3 बजकर 4 मिनट पर खत्म होगा. साल 2020 का पहला सूर्य ग्रहण करीब 6 घंटों तक प्रभावी रहेगा. यह सूर्य ग्रहण भारत समेत चीन, अफ्रीका, कांगो, इथोपिया, नेपाल, पाकिस्तान आदि देशों में दिखाई देगा.

2020 का पहला सूर्य ग्रहण – (सांकेतिक तस्वीर)

क्या होता है सूर्य ग्रहण?
हम इस बारे में अक्सर बात करते हैं कि अला दिन सूर्य ग्रहण होगा या फला दिन होगा. लेकिन क्या आप जानते है कि सूर्य ग्रहण किसे कहते हैं. असल में यह एक खगोलीय घटना है. सूर्य और पृथ्वी के बीच में चंद्रमा के आ जाने की खगोलिया स्थिति से जब सूर्य का प्रकाश पृथ्वी पर नहीं पहुंच पाता है, तो इस स्थिति को ही सूर्य ग्रहण कहा जाता है.

सूर्य ग्रहण का समय ?
भारतीय मानक समय अनुसार आंशिक सूर्यग्रहण सुबह 9 बजकर 15 मिनट पर आरंभ होगा, जबकि पूर्ण सूर्यग्रहण की अवस्था सुबह 10 बजकर 17 मिनट पर शुरू होगी. दोपहर 12 बजकर 10 मिनट पर सूर्य ग्रहण अपने सबसे अधिक प्रभाव में दिखेगा, जबकि ग्रहण की आंशिक अवस्था दोपहर 3 बजकर 4 मिनट पर समाप्त होगी.

भारत में कहां-कहां दिखेगा सूर्य ग्रहण ? 
भारत में पूर्ण सूर्य ग्रहण देहरादून, सिरसा और टिहरी आदि कुछ प्रसिद्ध शहरों में दिखाई देगा. वहीं देश के अन्य हिस्सों में आंशिक सूर्य ग्रहण दिखाई देगा.

क्या करें क्या नहीं
ग्रहण के दौरान खान-पान, शोर, शुभ कार्य, पूजा-पाठ आदि करना अच्छा नहीं माना जाता है. ग्रहण काल के दौरान गुरु मंत्र का जाप, किसी मंत्र की सिद्धी, रामायण, सूंदर कांड का पाठ, तंत्र सिद्धि आदि कर सकते हैं. ग्रहण के बाद पवित्र नदियों में स्नान, शुद्धिकरण करके दान देना चाहिए. इस समय में गर्भवती महिलाओं को घर से बाहर नही निकलना चाहिए. ग्रहण काल में सूर्य से पराबैंगनी किरणे निकलती हैं, जो गर्भस्थ शिशु के लिए हानिकारक होती हैं.

दिखाई देगी रिंग ऑफ फायर
21 जून को लगने वाले सूर्य ग्रहण में लोग रिंग ऑफ फायर देख सकते हैं. दरअसल, इस दौरान सूर्य का 88 फीसदी भाग चंद्रमा की वजह से दिखाई नहीं देगा. इस वजह से सूर्य के किनारे रिंग की तरह दिखाई देंगे. इसे ही रिंग ऑफ फायर कहते हैं. यह रिंग ऑफ फायर कुछ सेकेंड्स से लेकर कई जगहों पर 12 मिनट तक दिखाई देगा.

साल 2020 का पहला सूर्य ग्रहण कब होगा? 
साल का पहला सूर्य ग्रहण 21 जून, 2020 को दिखाई देगा. यह एक वलयाकार सूर्य ग्रहण होगा. वलयाकार अवस्था का संकीर्ण पथ उत्तरी भारत से होकर गुजरेगा. देश के शेष भाग में यह आंशिक सूर्य ग्रहण के रूप में दिखाई पड़ेगा.

सूर्यग्रहण के दौरान इन बातों का रखें ध्यान:
1. सूर्य ग्रहण के दौरान अक्सर लोग नंगी आंखों के सूरज को देखते हैं. ऐसा भूलकर भी न करें. यह आपकी आंखों को नुकसान पहुंचा सकता है.
2. अगर आपको सूर्यग्रहण देखना है तो इसके लिए सोलर फिल्टर चश्मे का इस्तेमाल करें. 
3. सोलर फिल्टर चश्मे को सोलर-व्युइंग ग्लासेस, पर्सनल सोलर फिल्टर्स या आइक्लिप्स ग्लासेस भी कहते हैं. 
4. चश्मा न होने की स्थिति में सूर्य ग्रहण न देखें. 
5. सूर्यग्रहण के दौरान सूरज को पिनहोल, टेलीस्कोप या फिर दूरबीन से भी न देखें.

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,381FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles