Saturday, March 2, 2024

शासकीय वाहन चालक संघ/यांत्रिक कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों ने अपनी मांगों के निराकरण की मांग की

महासमुंद। शासकीय वाहन चालक संघ/ यांत्रिकी कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों ने आज शुक्रवार को अपनी मांगों के निराकरण की मांग की। जिस पर उनकी मांगों व समस्याओं की ओर प्रदेश सरकार का ध्यानाकर्षित कराने का आश्वासन दिया।आज शुक्रवार को शासकीय वाहन चालक संघ/ यांत्रिकी कर्मचारी संघ के पदाधिकारी संसदीय सचिव व विधायक श्री चंद्राकर से मुलाकात कर अपनी मांगों की ओर ध्यान दिलाते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम ज्ञापन सौंपा। जिसमें संघ के पदाधिकारियों ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा लगातार कर्मचारियों के हितों में निर्णय लिया जा रहा है। सरकार के इस निर्णय का संघ सम्मान करता है। उन्होंने बताया कि शासकीय वाहन चालकों व कार्यभारित कर्मचारियों की समस्याओं व लंबित मांगों की ओर भी सरकार को ध्यान देने की जरूरत है। कार्यभारित कर्मचारियों को कार्यभारित स्थापना पद को समाप्त कर नियमित स्थापना में समाहित किया जाए। कार्यभारित स्थापना के वाहन चालक एवं तकनीकि कर्मचारियेां को नियमित स्थापना के कर्मचारियों की भांति सेवानिवृत्ति पश्चात अवकाश नगदीकरण एवं तीन स्तरीय समयमान वेतनमान जैसी सुविधाओं का लाभ मिल सके। वहीं वाहन चालकों को ग्रेड वेतन 1900 रूपए के स्थान पर 2400 रूपए ग्रेड वेतन दिया जाए। राज्य शासन द्वारा कर्मचारियों के वेतन विसंगति दूर करने के लिए प्रमुख सचिव की अध्यक्षता में पिंगुआ कमेटी का गठन किया गया है लेकिन कमेटी में वाहन चालकों को डाटा एंट्री ऑपरेटर के समतुल्य ग्रेड 2400 रूपए निर्धारित किया जाए। इसी तरह सौंपे गए ज्ञापन में अन्य मांगों व समस्याओं के निराकरण की मांग की गई है। संघ के पदाधिकारियों की बात सुनने के बाद संसदीय सचिव श्री चंद्राकर ने उनकी मांगों व समस्याओं की ओर प्रदेश सरकार का ध्यानाकर्षित कराने का आश्वासन दिया।

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,909FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles