Saturday, September 23, 2023

पाकिस्तान के पेशावर में पुलिस लाइंस इलाके में स्थित एक मस्जिद में आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ा लिया

पाकिस्तान के पेशावर में पुलिस लाइंस इलाके में स्थित एक मस्जिद में आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ा लिया। बताया गया है कि इस धमाके में 32 लोगों की मौत हुई, वहीं करीब 150 लोग घायल हुए हैं। यह धमाका दोपहर 1.40 बजे हुआ।

सुरक्षा अधिकारियों के मुताबिक, एक आत्मघाती हमलावर ने मस्जिद में नमाज के ठीक बाद खुद को उड़ा लिया। इससे नमाज के लिए आगे खड़े लोग बुरी तरह घायल हो गए। घायलों को पेशावर के ही लेडी रीडिंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 13 लोगों की हालत नाजुक बनी हुई है।

अधिकारियों के मुताबिक, इलाके को सील कर रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया गया है। इस घटना को लेकर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का बयान आया है। उन्होंने घटना में जान गंवाने वालों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की। उन्होंने आतंकवाद के खिलाफ खुफिया तंत्र को मजबूत करने और पुलिस फोर्स को और उपकरण मुहैया कराने की मांग की।

प्रत्यक्षदर्शी ने कहा कि घायलों में ज्यादातर पुलिसकर्मी हैं। फिलहाल किसी उग्रवादी समूह ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। हालांकि, अवैध तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान, जिसे पाकिस्तान तालिबान के रूप में जाना जाता है, ने अतीत में सुरक्षाकर्मियों को निशाना बनाते हुए कई आत्मघाती हमले किए हैं।

पेशावर के पुलिस अधीक्षक (जांच) शाजाद कौकब, जिनका कार्यालय मस्जिद के करीब है, ने मीडिया को बताया कि विस्फोट तब हुआ, जब वह नमाज अदा करने के लिए मस्जिद में दाखिल हुए थे। उन्होंने कहा कि वह किस्मत से हमले में बाल-बाल बच गए।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि मस्जिद का एक हिस्सा ढह गया और इसके नीचे कई लोगों के दबे होने की आशंका है। उन्होंने बताया कि घायलों को पेशावर के लेडी रीडिंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पेशावर के अस्पतालों में आपात स्थिति घोषित कर दी गई है। अस्पताल ने नागरिकों से पीड़ितों के लिए रक्तदान करने की अपील की है।

पेशावर विस्फोट के बाद इस्लामाबाद समेत अन्य प्रमुख शहरों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। कार्यवाहक मुख्यमंत्री आजम खान ने हमले की निंदा की और शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ ने ट्वीट किया कि पीड़ित परिवारों के साथ प्रार्थना और संवेदनाएं हैं। यह जरूरी है कि हम अपनी खुफिया जानकारी जुटाएं और आतंकवाद के बढ़ते खतरे से निपटने के लिए अपने पुलिस बलों को उचित तरीके से लैस करें। पिछले साल शहर के कोचा रिसालदार इलाके में एक शिया मस्जिद के अंदर इसी तरह के हमले में 63 लोग मारे गए थे।

पाकिस्तान की धरती एक बार फिर आत्मघाती बम धमाके से दहल उठी है. पाकिस्तान के उत्तर-पश्चिमी शहर पेशावर की एक मस्जिद में जोरदार आत्मघाती बम धमाका हुआ. इस घातक हमले में अबतक 32 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 150 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं. ब्लास्ट में जान गंवाने वाले लोगों का आंकड़ा लगातार बढ़ता ही जा रहा है. ये धमाका इतना जोरदार था कि मस्जिद का एक हिस्सा पूरी तरह से ढह गया. अफरा-तफरी मच गई. लोग अपनी जान बचाने के लिए यहां-वहां भागने लगे.

जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ घायलों और मृतक परिवारों से मिलने पेशावर के लेडी रीडिंग अस्पताल जाएंगे. वहीं पाकिस्तान के राष्ट्रपति डॉ. आरिफ अल्वी ने इस हमले की निंदा की है. उन्होंने कहा कि मैं पेशावर मस्जिद में हुए जघन्य और कायरतापूर्ण विस्फोट की कड़ी निंदा करता हूं. दोषियों को ढूंढ़कर दंडित किया जाएगा. साथ ही कहा कि ब्लास्ट में जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं. साथ ही घायलों के जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं. अल्वी ने कहा कि आतंकवाद को हमेशा के लिए दफन कर देना चाहिए.

रिपोर्ट्स के मुताबिक ये धमाका दोपहर करीब 1.40 बजे हुए. ब्लास्ट में जान गंवाने वाले लोगों में कई पुलिस अधिकारी भी शामिल हैं, जो कि मस्जिद में मौजूद थे. ये धमाका नमाज के बाद हुआ है. इसके चलते वहां काफी संख्या में लोग एकत्र थे. अभी तक किसी ने भी विस्फोट की जिम्मेदारी नहीं ली है.

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,867FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles