Sunday, November 27, 2022

मिस्र के कब्रिस्तान में मिली 2600 साल पुरानी खाने की चीज, देखकर हैरान हुए वैज्ञानिक

मिस्र के सक्कारा कब्रिस्तान में इस बार कुछ ऐसी खोज हुई है, जो आपको चौंका देगी. साइट पर पुरातत्वविदों को एक पुराना मिट्टी का बर्तन मिला है, जो 2600 साल पुराना बताया जा रहा है. सबसे खास है कि बर्तन के अंदर से पनीर निकला है, जो करीब इतना ही पुराना रहा होगा. एक मिट्टी के बर्तन में पनीर कब तक रह सकता है, एक दिन, एक महीना या एक साल. जाहिर, ऐसा कोई सोचता ही नहीं है, लेकिन मिस्र में पुरातत्वविदों ने जो खोज निकाला है, उसे जानने के बाद आपके मन में भी यह सवाल पैदा हो जाएगा. जी, हां मिस्र में कुछ पुरातत्वविदों ने 2600 साल पुराना पनीर ढूंढ निकाला है और खास बात है कि यह एक मिट्टी के बर्तन के अंदर मिला है. 2600 साल पुराने पनीर का मिलना वाकई हैरान कर देने वाली बात है.

मिस्र की मिनिस्ट्री ऑफ टूरिज्म एंड एंटीक्विटीज के अनुसार, पुरातत्वविदों की टीम ने यह खोज 10 सितंबर को सक्कारा कब्रिस्तान में उत्खनन कार्य के दौरान की है. जो मिट्टी के बर्तन मिला है, उसके बाहर मिस्र की एक प्राचीन भाषा में कुछ लिखा मिला है, जबकि बर्तन के अंदर सफेद पनीर के कई टुकड़े मिले हैं.

पनीर को लेकर कुछ पुरातत्वविदों का कहना है कि यह 26वें या 27वें मिस्र के साम्राज्य के दौरान का है. वहीं मेट म्यूजियम के अनुसार, यह पनीर 2600 साल पुराना है. पनीर को halloumi कहा जा रहा है, यानी यह बकरी और भेड़ के मिक्स दूध से बनाया गया है, जिसमें कई बार गाय का दूध भी मिला दिया जाता है. इसके टेस्ट को लेकर कहा जाता है कि यह थोड़ा नमकीन स्वाद में होता है.
ऑस्ट्रेलियन ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन की साल 2018 में छपी रिपोर्ट् के अनुसार, एक ऐसे ही बर्तन की खोज पहले भी हुई थी, जिसमें जो पनीर मिला था, वह 3200 साल पुराना था. उस पनीर को दुनिया का सबसे पुराना पनीर कहा गया था और उसके टेस्ट करने को लेकर चर्चा भी चल रही थी.

हालांकि, एक्सपर्ट्स ने ऐसा किसी भी सूरत में न करने की सलाह दी. एक्सपर्ट्स की ओर से कहा गया कि यह पनीर गंभीर बीमारियों से घिरा हुआ है, इसलिए इसे खाना किसी भी हाल में ठीक नहीं होगा. एक्सपर्ट्स अपनी जगह ठीक भी थे, क्योंकि हजारों सालों से उस पनीर के अंदर कितना कुछ बदल गया होगा, जो शायद आज के समय पर इंसान के शरीर के लिए बिल्कुल भी मुफीद न हो.

क्या है सक्कारा कब्रिस्तान
मिस्र में गिजा से 15 मील दूर सक्कारा कब्रिस्तान पड़ता है. सक्कारा में मिस्र के पुराने पिरामिड और एक बड़ी पुरातत्व साइट है. काफी समय से सक्कारा में उत्खनन का काम चल रहा है. पहले भी पुरातत्वविदों को वहां से कई अहम प्राचीन चीजें मिल चुकी हैं, जिनमें 8 मकबरे, एक कब्रिस्तान, 100 से ज्यादा ताबूत और करीब सैंकड़ों बिल्लियों और प्राचीन मिस्र के देवताओं की मूर्तियां शामिल हैं.
पुरातत्व विभाग ने ढूंढ निकाला था सूर्य मंदिर
हाल ही में मिस्र में एक और पुराना सूर्य मंदिर की खोज की गई थी, जो करीब 4500 साल पुराना बताया जा रहा था. पुरातत्वविदों को मिले अवशेषों को देखकर अनुमान लगाया गया था कि यह एक सूर्य मंदिर है जो प्राचीन मिस्र के पांचवे साम्राज्य (2465 से 2323 BC) के बीच का हो सकता है. इससे पहले भी मिस्र में ऐसे कुछ अवशेष मिले थे, जिन्हें सूर्य मंदिर कहा जा रहा था.

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,586FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles