Sunday, August 14, 2022

बिजली बिल के नाम पर लूटे जा रहे हैं लाखों रुपये, इस तरह के SMS से और व्हाट्सएप्प मैसेज से रहें सावधान

ख़ास बातें

  • ट्विटर पर कई शहरों से आ रही है यूजर्स की शिकायतें
  • गुजरात, महाराष्ट्र, पंजाब और ओडिशा छत्तीसगढ़ के लोगों को किया जा रहा हैं टार्गेट
  • Gadgets 360 ने स्कैमर द्वारा भेजे जा रहे इन SMS की जांच की है

भारत में बिजली उपभोक्ता स्कैमर्स का शिकार बन रहे हैं। स्कैम करने वाले यूजर्स को SMS या WhatsApp के जरिए मैसेज भेज रहे हैं कि उनका बिल बकाया है और अगर वे इसका भुगतान नहीं करते हैं, तो उनका कनेक्शन काट दिया जाएगा। इसमें एक फोन नंबर होता है, जो अनिवार्य रूप से स्कैमर को यूजर्स के साथ कॉन्टेक्ट स्थापित करने में मदद करता है। पिछले कुछ दिनों में इन घोटालों से कई यूजर्स को लाखों रुपये का नुकसान हुआ है।
नकली मैसेज बिजली देने वाली कंपनी के SMS की नकल करता है और यूजर्स से एक खास फोन नंबर डायल करने के लिए कहता है। मैसेज में लिखा होता है कि यह नंबर बिजली अधिकारी का है। इसमें लिखा होता है कि यदि भुगतान नहीं किया गया,  तो बिजली कनेक्शन काट दिया जाएगा। इसमें लंबित बिजली बिल के नाम पर एक अमाउंट भी दिया होता है।


Gadgets 360 ने पिछले कुछ दिनों में स्कैमर द्वारा भेजे जा रहे इन SMS को जांचा और पाया कि सभी मामलों में, मैसेज भेजे जाने के तुरंत बाद दिए गए फोन नंबर अनुपलब्ध हो गए।

कुछ मामलों में, पहली नजर में पकड़े जाने से बचने और एक साथ बड़ी संख्या में लोगों को निशाना बनाने के लिए स्कैमर्स को SMS हेडर का उपयोग करके नकली बिजली बिल अलर्ट संदेश भेजते देखा गया। हमने पाया कि हेडर आधिकारिक बिजली वितरकों से जुड़े नहीं थे। इसके बजाय उन्हें व्यक्तियों को सौंपा गया था – कुछ मामलों में बिहार और झारखंड के लोगों को।
महाराष्ट्र साइबर सहित एजेंसियों ने यूजर्स को ऐसे किसी भी मैसेज पर ध्यान न देने की जानकारी दी है। टीपी सेंट्रल ओडिशा डिस्ट्रीब्यूशन लिमिटेड (TPCODL) सहित बिजली विभागों ने भी बताया है कि वास्तविक डिस्कनेक्शन मैसेज में यूजर्स का कॉन्ट्रैक्ट नंबर (CA) नंबर होता है और इसमें आधिकारिक हेल्पलाइन नंबर शामिल होना चाहिए।

Related Articles

Stay Connected

22,042FansLike
3,433FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles